झाबुआ जिले में कोरोना संकट: जिस बस में आये जिले के मजदूर, उसमे था दाहोद का कोरोना पॉजिटिव….

0
63906

 टीम झाबुआ Live डेस्क

कोरोना के संक्रमण की आशंका ने जिला प्रशासन सहित जिलेवासियों को चिंता में डाल दिया है। झाबुआ जिलेवासियों के लिए यह बुरी खबर हो सकती है।
यह इसलिए कि बीती 29 अप्रैल को जिले के थांदला, झाबुआ सहित पेटलावद के ग्राम खोरिया, रलियामन और नाहरपुरा 45 मजदूरो जो राजस्थान से लौटे थे उन्हें नयागांव (राजस्थान-एमपी बॉर्डर) से एक बस लेकर पहुंची थी, उसमे कुछ दाहोद के लोग है जिसमे एक व्यक्ति कोरोना पॉजिटिव पाया गया हैं। वह शादी समारोह में शामिल होने के लिए अपने परिवार के 9 सदस्यों के साथ निम्बाहेडा गया था, जहां लॉक डाउन की वजह से वह वही फस गए थे, लेकिन लॉकडाउन की वजह से वहीं फस गया। जबसे प्रवासी मजदूरों को बसों द्वारा अपने अपने जिलों में लाया जा रहा था तो वह भी राजस्थान और मध्यप्रदेश की बॉर्डर नयागांव में आ गया और झाबुआ का निवासी होना बताकर जिले के 35 मजदूरों के साथ बस में बैठकर पहले तो झाबुआ आया और फिर अंदर के रास्ते से दाहोद चला गया। दाहोद में जब यह सभी पहुंचे तो अगले दिन इनके सेम्पल ले लिए गए थे, जिसमे एस कुरेशी( परिवर्तित नाम) रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। वहीं आज उसका भाई की रिपोर्ट में भी कोरोना पॉजिटिव पाया गया है। इन सभी को उसी दिन से क्वारिंटिन कर दिया था, लेकिन यह जो कोरोना पॉजिटिव है यह पिछले 3, 4 दिनों से घूम रहा था। अब न जाने यह कितने लोगों के सम्पर्क में आया है। अभी इसके परिवार के सभी सदस्य ओर वह खुद भी आयसुलेशन वार्ड में भर्ती है और उपचाररत है। यह परिवार पुराना दाहोद के वणकरवास में रहता था, कल रात को कलेक्टर विजय खराड़ी में इस ओर एरिये को कंटेन्मेंट एरिया घोषित कर दिया है। इससे लगा हुए कस्बे को बफर झोन डिक्लेयर किया हैं।

यह ख़बर जैसे ही मिली वैसे ही जिला प्रशासन में हड़कम्प मच गया। जिला कलेक्टर प्रबल सिपाहा के निर्देश पर एसडीएम एमएल मालवीय ने अपनी टीम के साथ खोरिया के 10, रलियामन और नाहरपुरा के 4-4 मजदूर मिलाकर कुल 18 मजदूरों को गांवो से लाकर 14 दिनों के लिए क्वारींटाइन किया है। एसडीएम ने बताया अब इन सभी मजदूरों के जांच के लिये सेम्पल लिए जाएंगे और भेजे जाएंगे।

घुघरी चेकपोस्ट

यह बस घुघरी चेकपोस्ट से होकर ही गुजरी थी, जहां स्वास्थ्य विभाग, पुलिस और राजस्व की टीम भी मौजूद थी, इन सभी की भी जांच करवाना अब जरूरी हो गया है, क्योंकि यह सभी उस दिन उनके सम्पर्क में आये थे।

इस ख़बर के बाद शासन और प्रशासन के माथे पर भी चिंता की लकीरें हैं। कोरोना के जिले में प्रकोप को लेकर लोगों में भारी दहशत है। जिले की बॉर्डरो पर पुलिस फोर्स को तैनात कर दिया गया है।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here