खनिज विभाग व रेत माफिया अवैध रेत उत्खनन कर शासन को लगा रहे रोजाना लाखों रुपए का चूना, ओवरलोड वाहनों से दुर्घटनाओं में हुआ इजाफा

0
207

जितेंद्र वाणी, नानपुर
अलीराजपुर आदिवासी बाहुल्य जिले में कलमनाथ सरकार को बदनाम करने व आम जनता में आक्रोश बनाये रखने के लिए खनिज विभाग अभी तक जिले में अवैध रेत माफियाओ के लिए कोई ठोस कदम नहीं उठा पा रहा है, जिसका खामियाजा आम जनता इन रेत माफियाओं के वाहनों दुर्घटना की भेंट चढ़ रहा है तथा राहगीर असमय ही काल के ग्रास में समां रहे हैं। अभी कुछ समय पूर्व नानपुर थाने से रोजाना सैकड़ो डम्पर-ट्रैक्टर खुले आम तेज रफ्तार से निकल रहे है वही इन डंपरो व ओवरलोड वाहनों की टक्कर से कई गरीब ग्रामीणों की सड़क पर तड़प कर मौत हो जाती है। ऐसे में परिजनों का सरकार पर आरोप लगना व गुस्से से सरकार के प्रति आक्रोश होना वाजिब है जो जिले के सभी चौराहे पर खनिज विभाग की इस आंख मिचौनी से आने वाले समय मे कांग्रेस सरकार को नुकसानी उठानी पड़ेगी। वहीं विधायक मुकेश पटेल को हानि पहुचाने में खनिज विभाग के अधिकारी अलीराजपुर जिले को बदनाम कर रहे है। बताया जाता है कि खनिज विभाग की कार्यप्रणाली भाजपा के लिए संजीवनी का काम कर रही है। खनिज विभाग जब कि अवैध रेत माफियाओ को लाभ पहुंचाने के लिए सरकार को बदनाम होना ही है पूरे अलीराजपुर जिले में अवैध रेत खनन करना व 30 से 40 टन डम्पर से अन्य जिलों में कई पुलिस थानों अवैध रेत के वाहन निकलते हैं। नानपुर थाने के अंतर्गत 12 तारीख को वालसिंह पिता चत्तर सिह उम्र 22 वर्ष निवासी सेजगाव व 13 तारीख को कुंवरसिंह पिता भेरू निवासी खरपाई की दोनों की सड़क पर रात में खून से लथपथ लाश मिलने से पूरे जिले में चर्चाओं का विषय बना व सोशल मीडिया पर खनिज विभाग व पुलिस की मिलीभगत से अधिकारियों की चांदी हो रही है, तो वहीं सड़को की हालत भी खराब हो रही है। दुर्घटनाओ में इजाफा हो रहा है लगभग इस दो माह में 10 से 12 ग्रामीणों खण्डवा बड़ौदा रोड पर दुर्घटनाओं के शिकार हो चुके हैं। इस संबंध में जब खनिज विभाग के अधिकारी अशोक सिंघाड़े से पूछा गया तो उनका कहना है कि अवैध रेत वाहनों पर कार्रवाई की गई है, कितनी कार्रवाई की है इस आंकड़े पर उन्होंने क्षुब्ध होकर कहा कि जो भी छापना हो छाप दो और फोन काट दिया।
)

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here