कथित गिरफ्तारी के दौरान घायल हुऐ दो भाई , गंभीर आरोप मे नामजद थे

अलीराजपुर लाइव डेस्क के लिऐ वसीम राजा की रिपोर्ट 

अलीराजपुर जिले के उदयगढ मे बीती रात अपहरण ओर बलात्कार के मामले मे नामजद दो सगे भाईयो को उदयगढ पुलिस द्वारा गंभीर रुप से घायल अवस्था मे सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र उदयगढ मे 7.40 बजे शाम को भर्ती करवाया गया । जहां प्राथमिक उपचार के बाद सुरेश एंव दिलु उफ॔ दिलीप को जिला चिकित्सालय अलीराजपुर ओर वहां से दाहोद के लिऐ रैफर कर दिया गया है जहां दोनो की हालात खतरे से बाहर बताई जा रही है ।

दोनो पर अपहरण / बलवा/ बलात्कार मे सहयोग देने के गंभीर आरोप ।

गंभीर रुप से घायल दोनो युवको पर उदयगढ थाने पर 3 मई 2015 को अपराध क्रमांक 50/15 धारा 363,366,323,147,376 ipc के तहत दर्ज है इन पर आरोप है कि उदयगढ थाने के छारवी गांव की एक युवती के अपहरण मे सहभागी बने थे  ओर आंबुआ मे भी एक मामले के संदिग्ध है साथ ही दोनो के पिता कैगु आंबुआ थाने का निगरानी बदमाश है ।

कल की पुलिस के अनुसार यह कहानी —

इलाके के एसडीओपी आनंद सिंह ने बताया कि कल शाम को पुलिस को मुखबिर से सूचना मिली थी कि अपराध क्रमांक 50 मे वांटेड सुरेश ओर दिलु जवासा फाटे पर शराब

घायल सुरेश
घायल सुरेश

Screenshot_2015-07-31-20-28-52

पी रहे है उदयगढ मे बैठकर शराब पी रहे है इस सुचना पर थाना प्रभारी एस मावी मय बल के गये तो पुलिस पार्टी पर हमला करने की दोनो ने कोशिश की इस दोरान बीयर की बोतल पर सुरेश गिर पडा ओर बोतल उसके सिर मे जा लगी जिससे उसे चोट आयी । घायल होने के चलते दोनो को अस्पताल ले जाया गया । पुलिस ने दोनो के खिलाफ शासकीय कार्य मे बाधा डालने का मुकदमा भी धारा 353 के तहत दर्ज किया है ।

जनचर्चा यह भी है —

पुलिस की कहानी से हटकर उदयगढ मे चर्चा यह है कि दोनों ने पुलिस के हाथो बचाने का प्रयास किया लेकिन असफल रहे चुकिं पुलिस पर माइनर अटैक इन दोनो ने किया था लिहाजा थाने पर लाकर इन दोनो के साथ पुलिस ने थड॔ डिग्री इस्तेमाल की जिसके बाद हालात बिगडे ।

जिम्मेदार बोल —

“” 7.40 शाम को सुरेश ओर दिलु को लेकर पुलिस आई थी दोनो को चोटें आई है कैसे यह मालुम नही दोनो को 108 से जिला अस्पताल अलीराजपुर रैफर कर दिया है वही उपचार संभव है – डा सावन सिह – उदयगढ 

“” यह कहना गलत है कि पुलिस ने कोई मारपीट की है यह दोनो वांटेड थे उन्हें पकडने गयी थी पुलिस । उसी अफरा तफरी मे यह खुद घायल हुऐ है ” आनंद सिंह – एसडीओपी जोबट