उपचुनाव के जरिऐ अपना 16 वा विधायक चुनेगी जोबट विधानसभा इलाके की जनता

0
7054

चंद्रभानसिंह भदोरिया के साथ फिरोज खान / अलीराजपुर

अलीराजपुर जिले की जोबट विधानसभा मे इतिहास मे दूसरी बार उपचुनाव होने जा रहा है कांग्रेस विधायक कलावती भूरिया के निधन से रिक्त हुई सीट पर अगले 6 माह के भीतर विधानसभा का उपचुनाव होगा ..इसके पहले सन 1998 मे तत्कालीन विधायक स्वर्गीय अजमेर सिंह रावत के निधन के बाद हुऐ उपचुनाव मे उनकी बहु सुलोचना रावत कांग्रेस से विधायक चुनी गयी थी ।

यह है विधानसभा का इतिहास

अलीराजपुर जिले की जोबट विधानसभा मध्यप्रदेश की 230 विधानसभा सीटों मे से एक है तथा इसका नंबर 192 है सन 1951 मे जोबट विधानसभा सीट अस्तित्व मे आई थी तथा मध्य भारत राज्य की 79 विधानसभा सीटों मे से एक थी सन 1951 से ही यह सीट अनुसूचित जनजाति ( ST ) के लिए आरक्षित है यह सीट वर्तमान मे रतलाम लोकसभा क्षैत्र का हिस्सा है ।

अब तक यह रहे विधायक,
अजमेर सिंह 6 बार रहे विधायक

जोबट विधानसभा सीट पर अब तक 15 बार विधायक चुने गये है सर्वाधिक बार कांग्रेस के अजमेरसिंह रावत विधायक रहे ..वे कुल 6 मर्तबा विधायक बने तो उनके बहु सुलोचना रावत भी कांग्रेस के टिकट से दो बार विधायक चुनी गयी थी ..क्रमानुसार विधायकों की सुची इस प्रकार है।

1951( मध्य भारत राज्य) – प्रेमसिंह ( सोशलिस्ट पार्टी )

इसके बाद से मध्यप्रदेश विधानसभा अस्तित्व मे आ गयी थी इसके बाद की सुची इस प्रकार है ।

1957 – श्रीमति गंगा ( भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस)

1962 – रायसिंह ( सोशलिस्ट पार्टी )

1967 – अजमेरसिंह रावत ( भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस )

1972 – अजमेरसिंह रावत ( भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस )

1977 – अजमेरसिंह रावत ( भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस )

1980 – अमरसिंह ( इंदिरा कांग्रेस )

1985 – अजमेरसिंह रावत ( इंदिरा कांग्रेस)

1990 – अजमेरसिंह रावत ( इंदिरा कांग्रेस)

1993 – अजमेरसिंह रावत ( इंदिरा कांग्रेस)

1998 – सुलोचना रावत ( कांग्रेस)

2003 – माधोसिंह डावर ( BJP )

2008 – सुलोचना रावत ( कांग्रेस)

2013 – माधोसिंह ( बीजेपी )

2018 – कलावती भूरिया ( कांग्रेस )

पिछले विधानसभा चुनाव 2018 का अंकगणित जानिऐ

जोबट विधानसभा सीट का पिछला विधानसभा चुनाव 2018 मे हुआ था जिसमे त्रिकोणीय मुकाबला था इस मुकाबले मे कांग्रेस की कलावती भूरिया ने बीजेपी के माधोसिंह को 2056 वोटों से हराया था इस चुनाव मे कांग्रेस के बागी होकर चुनाव लड रहे विशाल रावत को 31229 वोट मिले थे जो कि कुल हुऐ मतदान का 22.73% था ..कलावती भूरिया को 46067 वोट मिले थे जो कि कुल वोटों का 33.53% था जबकि माधोसिंह डावर को 44011 वोट मिले थे जो कि कुल वोटों का 32.04% था ।

कांग्रेस का गढ रही है सीट ; कम मतदान का इतिहास रहा है

जोबट विधानसभा सीट का इतिहास को देखे तो यह सीट कांग्रेस का गढ रही है दो बार सोशलिस्ट पार्टी ओर दो बार बीजेपी को यह सीट मिली है लेकिन 11 बार यह सीट कांग्रेस की झोली मे गयी है ..इसके अलावा जोबट विधानसभा सीट पर रिकार्ड सबसे कम मतदान का रिकार्ड भी रहा है यहां ओसतन 45 से 50% मतदान का इतिहास रहा है ।

 

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here