आखिर कब होगा शिक्षकों की समस्याओं का समाधान, कहीं छठवे वेतनमान का तो कहीं डी.ए. का एरियर नहीं, प्रांतीय शिक्षक संघ का प्रतिनिधि मण्डल मिला डिप्टी कलेक्टर से

0
300

पीयूष चन्देल, अलीराजपुर

अलीराजपुर जिले के शिक्षकों की समस्याओं के समाधान को लेकर सोमवार देर शाम प्रांतीय शिक्षक संघ का प्रतिनिधि मण्डल राज्य कर्मचारी संघ, प्रांतीय शिक्षक संघ जिलाध्यक्ष राजेश आर. वाघेला के नैतृत्व में नोडल अधिकारी आदिवासी विकास विभाग अलीराजपुर व सोण्डवा एस.डी.एम. सुश्री किरणसिंह अंजना से मिला। श्री वाघेला ने बताया की शासन के निर्दशो के बावजुद 2 वर्ष बित जाने के पश्चात भी जिले के अनक शिक्षकों को छठवे वेतनमान की प्रथम व द्वितीय किश्त प्राप्त नहीं हो सकीं है। जबकि तृतीय एवं अंतिम किश्त मई 2020 में दी जाना है। आजाद नगर के बरझर व बड़ा खुटाजा संकुल अलीराजपुर के बालक नानपुर में आज दिनांक तक प्रथम किश्त ही नहीं दी गई है, जबकि खारकुंआ, अजन्दा, लक्ष्मणी, बहारपुरा में द्वितीय किश्त शेष है। इस संबंध में जब भी जिम्मेदार अधिकारीयों से बात की जाती है, तो बजट नहीं है, का हवाला देकर अपनी जवाबदारी से इतीश्री करली जाती है। यह संभव नहीं है कि 2 वर्ष में राज्य शासन द्वारा पर्याप्त बजट उपलब्ध नहीं कराया गया हो। कहीं ना कहीं छठवे वेतनमान के एरियर में संकुल प्राचार्य व खण्ड शिक्षा कार्यालयों की लापरवाही स्पष्ट दर्शाती है। वहीं जिले में शासन द्वारा समय-समय पर दिये जा रहे डी.ए. का एरियर भी संकुलों में शेष है। इस संबंध में संकुल प्राचार्यो एवं बी.ओ. कार्यालयों से डी.ए. का एरियर सभी शिक्षकों को प्राप्त हो चूका है का प्रमाण-पत्र मांगा जाय। वहीं जिले के क्रमोन्नती प्राप्त शिक्षकों का 4 माह हो जाने के पश्चात भी अब तक क्रमोन्नती वेतनमान का निर्धारण व वेतन नहीं लगाया गया। साथ ही बार-बार अवगत कराने एवं ज्ञापन देने के पश्चात भी 5 माह बित जाने के बाद भी 154 शिक्षकों की तकनिकी कारणों से 0 नम्बर प्राप्त होने पर एक वेतन वृद्धि रोकी गई है, जिसे पुनः वापस लेने हेतु उक्त समस्या का कोई समाधान नहीं किया गया। जिले के लगभग 10-12 गुरूजीयों का लम्बे समय के पश्चात भी संविदा संवर्ग में संविलियन नहीं किया गया। साथ ही हड़ताल अवधि का भी शिक्षकों को अब तक वेतन नहीं दिया गया। शिक्षिका गायत्री वाघेला का सात माह से वेतन नहीं मिलने से आर्थिक समस्या का सामना करना पड़ रहा है, सहित अन्य समस्याओं से अवगत कराया गया। इस अवसर पर संगठन मंत्री गुलसिंह सोलंकी, इन्दरसिंह मण्डलोई, थानसिंह डिमच, रायसिंह गोड संहित संघ सदस्य उपस्थित थे।

कोई जवाब दें

Please enter your comment!
Please enter your name here