मारूति हिंद व्यायामशाला-बजरंग दल के अखाड़े में दिखाए करतब ने बांधां समां

0
385

पन्नालाल पाटीदार रायपुरिया

रायपुरिया के आसपास के गांव के ग्रामीणजन तेजाजी मंदिर पर पहुंचे वहां पर नारियल प्रसादी दूध चढ़ाते हैं। दोपहर में मारुति हिन्द व्यामशाला, बजरंग दल के आयोजक अखाड़े का आयोजन भी करते हैं व अखाड़े वाले अपना करतब दिखाते हैं बड़ी संख्या में देखते लोगों का हुजूम उमड़ा। तो वहीं भादवा माह की दशमी पर 8 सितंबर रविवार के दिन तेजा दशमी का पर्व बड़ी धूम धाम से मनाया। गांव में तेजा दशमी पर्व को मनाने के लिए भक्तजन व श्रद्धालुओ में उत्साह दिखाई दिया। वहीं तेजादशमी के पूर्व मंदिर को लाइट डेकोरेशन व साज सज्जा कर सजाया गया। रविवार सुबह गांव के मुख्य मार्गो से निशान निकाले गए। भादवा महीने की बड़ी दशमी के दिन तेजा दशमी का पर्व मनाया जाता है उस दिन जहरीला जानवर काटने से तेजाजी के नाम से जो बंधी हुई ताती है वो तोड़ी जाती है उस दिन मन्नतधारी व्यक्ति निशान चढ़ाते हैं। रायपुरिया के आसपास के गांव के ग्रामीणजन तेजाजी मंदिर पर पहुंचते हैं वहां पर नारियल प्रसादी दूध चढ़ाते हैं दोपहर में मारुति हिन्द व्यामशालाए बजरंग दल के आयोजक अखाड़े का आयोजन भी करते हैं व अखाड़े वाले अपना करतब दिखाते हैं। किसान दशमी के दिन अपना कामकाज बंद रखते हैं 1 दिन पहले मवेशियों के लिए घास अपने खेतों से काटकर लाते हैं। क्योंकि दशमी के दिन धार दार हथियार नहीं चलते हैं कहीं जगह पर तेजाजी मंदिर पर तेजाजी का नाटक भी करते हैं जागरण भी करते हैं तेजाजी का जन्म राजस्थान के खरनाल में हुआ था उनकी कई चमत्कारी चीजें के किस्से सुनने को मिलते हैं।