वार्षिकोत्सव में बोले विधायक भाबर: महापुरुष असली नेता जिन्होंने देश के लिए कुर्बानियां दी

0
205

झाबुआ लाइव के लिए थांदला से रितेश गुप्ता की रिपोर्ट-
‘हर व्यक्ति के लिए समय तय है वह व्यक्ति के लिए नहीं रुकता है न ही इंतजार करता है जैसे सूर्योदय एवं सूर्यास्त का समय तय है यदि हम समय बर्बाद करेंगे तो समय हमें बर्बाद करेगा विद्यार्थी क्या पढ़े, क्या न पढ़े इसको निश्चित करना होगा। असली नेता राजनीति करने वाले नहीं होते बल्कि हमारे महापुरूष असली नेता है जिन्होंने देश के लिए कुर्बानी दी।’ उपरोक्त विचार विधायक एवं महाविद्यालय जनभागीदारी अध्यक्ष कलसिंह भाबर ने महाविद्यालय के वार्षिकोत्सव के समापन अवसर पर छात्रों को कहे। उन्होंने कहा कि शब्दों की गहराई को जाने बगैर उनका अर्थ रखना शिक्षा नहीं है। यदि हम देश को शिरोमुख पर धारण कर कार्य करे तो भारत विश्वगुरू बन सकता है। विशेष अतिथि नगर परिषद अध्यक्ष बंटी डामोर ने कहा कि वार्षिकोत्सव वर्षभर की गतिविधियों का मूल्यांकन करने का अवसर होता है। विद्यार्थियों को इस अवसर पर अधिक से अधिक गतिविधियों में भाग लेना चाहिये। विशेष अतिथि कृष्ण अजनार अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद विभाग संयोजक ने कहा कि जीवन में अनुशासन एवं समय का सद्पयोग लक्ष्य प्राप्ति के लिए आवश्यक है। छात्र आगे बढक़र राष्ट्र निर्माण का कार्य करें। विशेष अतिथि यश पंवार अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद जिला सह संयोजक ने कहा कि वर्तमान शिक्षा देश के महापुरुषों की उपेक्षा कर रही है। अब शैक्षणिक क्षेत्र में भी सर्जिकल स्ट्राइक की आवश्यकता है। आपने पुस्तकों में क्रान्तिकारियों का इतिहास पाठ्यपुस्तकों में शामिल करने की मांग की है। नाथूराम पाटीदार ने छात्र/छात्राओं को वार्षिकोत्सव की शुभकामना दी। समापन कार्यक्रम के प्रारंभ में मां सरस्वती की अतिथियों ने पूजा अर्चना की। इसके पश्चात सरस्वती वंदना पूर्वा जैन, उपासना कटारा ने प्रस्तुत की, अतिथियों पुष्पमाला से स्वागत प्राचार्य डॉ. पीके संघवी, वरिष्ठ प्राध्यापक प्रो. पीटर डोडियार, प्रो. सेलीन मावी, प्रो. एसएस मुवेल, विजय सिंह मावडा एवं दलसिंह मोरी ने किया। इसके पश्चात प्राचार्य पीके संघवी ने महाविद्यालय में जनभागीदारी के सहयोग से किए जा रहे कार्यो का विवरण दिया एवं विज्ञान प्रयोगशाला हेतु हॉल स्वीकृत करने मांग रखी। विधायकभाबर द्वारा विज्ञान प्रयोग शाला हेतु पांच लाख रुपए विधायक निधि देने की घोषणा की। नगर परिषद अध्यक्षबंटी डामोर ने महाविद्यालय में प्रवेश द्वार के आसपास पेबर्स लगाने की स्वीकृति दी। समापन समारोह में अतिथियों द्वारा वार्षिक खेलकूद प्रतियोगिता के विजेताओं को पुरस्कृत करते हुए उन्हें सम्मानित किया। इसी प्रकार साहित्यिक, सांस्कृतिक, एकल गान, समूह नृत्य, वाद-विवाद, तत्कालिक भाषण, निबंध प्रतियोगिता, रांगोली, मेहंदी, सलाद, केश सज्जा एवं विज्ञान प्रदर्शनी के प्रतिभागियों को भी पुरस्कृत किया। इस अवसर पर महाविद्यालय में प्रो. बीएल डावर, प्रो. मीना मावी, प्रो. हेमता डुडवे, अतिथि विद्वान, केएस चौहान, दिनेश मोरिया, अजय मोरी, रमेश डामोर, फतिया खपेड़ सहित बडी संख्या में विद्यार्थी उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचालन डॉ. जीसी मेहता ने किया एवं आभार छात्रसंघ अध्यक्ष प्रताप कटारा ने माना। अन्त में सभी विद्यार्थियों ने स्वल्पाहार ग्रहण किया।