ग्रामीणों को शरीर में ऑक्सीजन तेजी से फेफड़े में लेकर मृत कोशिका जीवित करने का प्राणायाम योग सीख रहे आचार्य विश्वामित्रार्य

0
56

रितेश गुप्ता, थांदला
ग्राम जुलवानिया में पतंजलि योगपीठ हरिद्वार एवं ग्रामीणों के सहयोग से पंच दिवसीय योग शिविर का आयोजन ग्राम जुलवानिया में 13 से 17 मार्च तक किया जा रहा है जिसके तारतम्यता में पतंजलि योगपीठ से आए हुए आचार्य विश्वामित्रार्य इलाज किया जा रहा है। गर्मी के मौसम में प्राणायाम गर्मी से काफी राहत दिलाती है प्राणायाम से सर्दी गर्मी व प्रतिकूल वातावरण को ठीक कर सकते हैं। प्राणायाम वह प्रक्रिया है जिसमें ऑक्सीजन को तेजी से फेफड़े में लेकर अपने संपूर्ण शरीर के कोशिकाओं ओम सेंस में भेज दिया जाता है जिससे मृत कोशिका जीवित होती है व जहां जहां ब्लड सरकुलेशन नहीं होता है वहां वहां ऑक्सीजन के माध्यम से हम रक्त का संचार तेजी से कर सकते हैं जिससे रोग नष्ट होना प्रारंभ हो जाती है और आने वाले समय में रोगों से हम बच सकते हैं। इस मौके पर आचार्यजी ने यह भी बताया कि अब जिले में लगभग सभी जिलों में काफी गांव में योग व प्राणायाम शिविर हो चुका है जिससे लोगों में योग के प्रति रुझान बढ़ रही है। शिविर के साथ-साथ स्वच्छता अभियान योग जागरण रैली व बच्चों में नैतिक शिक्षा भी दी जा रही है, जिस से आने वाली हमारी नई पीढ़ी योग व भारतीय संस्कृति की ओर अग्रसर होंगे। इस शिविर का शुभारंभ शिविर के आयोजक गोपालसिंह पलासिया ने दीप जलाकर योग व प्राणायाम किए। इस शिविर का समापन 17 मार्च को सुबह 9 बजे आयुष्कामा यज्ञ के साथ संपन्न होगा।
)