कॉलेज अतिथि विद्वानों ने मांगों को लेकर मुख्यमंत्री के नाम प्राचार्य को सौंपा ज्ञापन

0
77

झाबुआ लाइव के लिए थांदला से रितेश गुप्ता की रिपोर्ट-
सहायक प्राध्यापक भर्ती विज्ञापन को निरस्त करने, समस्त अतिथि विद्वानों को संविदा नियुक्ति देने तथा न्यूनतम वेतनमान 25 हजार रुपए करने की मांग रखी। उच्च शिक्षा विभाग के अन्तर्गत शासकीय महाविद्यालय थांदला में कार्यरतसमस्त अतिथि विद्वान, ग्रंथपाल, क्रीड़ा अधिकारी द्वारा यह मांग की गई कि मप्र लोक सेवा आयोग द्वारा जारी सहायक प्राध्यापक भर्ती विज्ञापन 12 दिसंबर 17 को तुरन्त निरस्त किया जाए और वर्तमान सत्र में कार्यरत समस्त अतिथि विद्वानों, ग्रंथपाल एवं क्रीड़ा अधिकारी सहित बढ़ाया जाए। तत्पश्चात ही शेष बचे हुऐ रिक्त पदों के विरूद्ध मप्र लोक सेवा आयोग द्वारा भर्ती विज्ञापन जारी किया जाए। वही संविदा सहायक प्राध्यापक संविदा ग्रंथपाल/ क्रीड़ा अधिकारी दिया जाए एवं वर्तमान में ग्रंथपाल तथा क्रीड़ा अधिकारी को 580 रुपए प्रतिकार्य दिवस दिया जा रहा है जो कि समान पद समान वेतन के परिप्रेक्ष्य मे उवित नही है अत: समस्त अतिथि विद्वानों ग्रंथपाल एवं क्रीड़ा अधिकारी सहित को यूजीसी द्वारा निर्धारित 15600-39100 एजीपी 6 हजार रुपए दिया जाए या न्यूनतम वेतन 25 हजार दिया जाए। उपरोक्त मांगों का निराकरण शीघ्र किया जाए अन्यथा हम सभी अतिथि विद्वानों द्वारा महाविद्यालय एवं प्रदेश स्तर पर कक्षाओं का बहिष्कार करते हुए सामूहिक हड़तालेें, प्रदर्शन तथा आन्दोलन किए जाएंगे। प्राचार्य को ज्ञापन सौंपते समय करणसिंह बामनिया, विजयसिंह देवल, हर्षवद्र्धन राठौर, भगवान स्वरूप गुप्ता, मनोज कुमार दंडोतिया, हिमांशु मालवीया, प्रीतम गुनावा, अर्चना आर्य, मिसर नरगांवे, शंकर भूरिया, रेखा रावत आदि उपस्थित थे।