जलस्त्रोतों से पानी की मोटरे लगाकर की जा रही जलचोरी, जिम्मेदार नहीं जागे तो शहर को झेलना होगा जलसकंट

0
158

सलमान शैख़, पेटलावद

जल ही जीवन है, जल है तो कल है जैसे स्लोगन पढऩे को अक्सर मिल जाते है, लेकिन फिर भी लोग पानी को सहेजने के प्रति उदासीन ही है। इसके चलते कई बार लोगो को पानी की किल्लत झेलने को मजबूर होना पड़ता है।
मालवा की प्रसिद्ध कहावत पग-पग रोटी डग-डग नीर अब दूर की कौड़ी बनती जा रही है। शहर की प्यास बुझाने वाले एकमात्र पेयजल स्त्रोत चोर बोराली तालाब अपनी जल भराव क्षमता तक पहुंचने से पहले ही खाली हो रहा है, क्योकि एक ओर तो क्षैत्र की जीवनदायिनी माही नदी का पानी इसमें नहर के माध्यम से छोड़ा जा रहा है, वहीं दूसरी ओर आसपास के किसानो ने तालाब में मोटरे लगाकर अवैध रूप से सिंचाई करना शुरू कर दी है, जिससे तालाब भराने से पहले ही खाली होता जा रहा है। लगता नही कि माही का पानी आ जाने से नगरवासियों की पेयजल समस्या का निदान हो पाएगा।

दो वर्षो से झेल रहे थे जलसंकट, अब नही जागे तो फिर होगा:
पिछले दो वर्षो से यह स्थिति बनी थी कि नागरिको को तालाब के डेड स्टोरेज तक का पानी पीने के लिए मजबूर होना पड़ा था, लेकिन फिर भी इस ओर अधिकारियो का रवैया उदासीन बना हुआ है। ऐसे में दिन-ब-दिन चोर बोराली तालाब से पानी खाली हो रहा है। नागरिको का कहना है कि अगर ऐसा ही चलता रहा तो फिर शहर को भीषण जलसंकट से जूझना पड़ेगा और परेशानी उठानी पड़ेगी।

विभागों को करना होगी संयुक्त पहल-
मूलत: यह तालाब जल संसाधन विभाग का हैं जहां से पहले सिंचाई के लिए पानी दिया जाता हैं ओर निश्चित क्षमता के बाद पेयजल के लिए पानी नगर परिषद  के लिए नगर की पेयजल आपूर्ति के लिए आरक्षित रहता हैं। चोर बोराली तालाब से नगर की नल-जल योजना संचालित हैं, लेकिन ध्यान नही देने के चलते यह लेवल बढऩे की बजाय नीचे जा रहा है। यहां दोनों की विभागों को पुलिस भी मदद लेना होगी।
मोटरों से भी चोरी हो रहा पानी-
नहरों से जहां पानी देने में रोक नही लग रही हैं वही आसपास के खेत वाले मोटरों ओर इंजन से भी पानी चुरा रहे हैं। इस पर कोई ध्यान नही दे रहा हैं। समय रहते ध्यान नही दिया गया तो नगर को गंभीर पेयजल संकट से गुजरना होगा। बढती आबादी ओर प्रकृति की बेरूखी के चलते पेयजल के स्त्रोत भी नाकाफी साबित हो रहे हैं। हर वर्ष गहराता पेयजल संकट ओर परेशान होते रहवासीयों को इस समस्या से निजात दिलाने के लिए स्थाई हल निकालना होगा।
नहीं आएगी समस्या:
– नगर में पेयजल समस्या नही आने दी जाएगी। चोर बोराली बांध से पानी की चोरी हो रही है तो उसे रोकने की ओर प्रयास करेगें। – मनोहरलाल भटेवरा, नपं अध्यक्ष पेटलावद।
मदद लेकर बनाएगें टीम:
पुलिस, सिंचाई, राजस्व ओर नपं की संयुक्त टीम बनाकर अवैध पानी चोरी रोकने के लिए कार्यवाही करेगें। नगर को पेयजल की समस्या नही आने दी जाएगी। -सुरेशचंद्र त्रिवेदी, सीएमओं नपं पेटलावद