श्रीमद भागवत कथा में हजारों धर्मावलंबियों को संबोधित कर देवी निधि सारस्वत ने हा कि हमको सभी जीवों से प्रेम करने का संदेश देती है

0
86

भूपेंद्र बरमंडलिया,मेघनगर
प्रतिदिन बढ़ती भीड़ और श्रद्धालुओं की अगाध आस्थाओं के बीच प्रदेश के प्रसिद्ध तीर्थस्थल श्रीवनेश्वर मारुति नंदन हनुमान मंदिर फुटतालाब में देवी नेहा और निधि के श्रीमुख से चल रही श्रीमद भागवत कथा के तृतीय दिवस देवी निधिजी ने सुखदेवजी की कथा सुनाई। देवी निधि ने कहा कि कोई भी व्यक्ति अगर सुखी है या दुखी है तो उसका जिम्मेदार वह स्वयं होता है। हम जैसा कर्म करते है हमको वैसा ही फल मिलता है। उन्होंने कहा कि नशा बुद्धि और विवेक का नाश करता है हमको सबको नशे से दूर रहना चाहिए। नशे के दुष्प्रभावो को सरल शब्दों में समझाते हुए देवी निधि ने कहा कि शत प्रतिशत राक्षस जैसा बनाने वाली चीज को शराब कहा जाता है और मरघट का रास्ता दिखाने वाली चीज को मदिरा कहा जाता है। हम सबको जीवन का विनाश करने वाली इन ऐसी बुरी चीजों का त्याग करना चाहिए। श्रीमद भागवत कथा सिखाती है कि हम बुराइयों को छोड़े और अच्छाइयों को अपनाए। उन्होंने नारद को परिभाषित करते हुए कहा कि जो सबको ज्ञान दे वो नारद, बृज की भाषा में ये भी कहा जाता है कि जिसकी बात रद्द न की जा सके उस नारद कहा जाता है। तृतीय दिवस की श्रीमद भागवत कथा में देवी निधि ने महाभारत का भी वर्णन किया। उपस्थित श्रद्धालुओं से देवी निधि ने मांसाहार का सेवन नहीं करने का आग्रह किया। 100 अंडे खाने से जितना विटामिन मिलता है उतना विटामिन 10 आंवले खाने से मिलता है। उन्होंंने कहा कि खाने में बाल आने से हम खाना खाना छोड़ देते है और अंडे में रहने वाले किसी मां के लाल को हम खा जाते है। ईश्वर ने हमको खाने के लिए इतनी सारी चीजें दी है फिर भी हम जीव हत्या करते है। श्रीमद भागवत कथा हमको सभी जीवों से प्रेम करना सिखाती है। श्रीवनेश्वर मारुति नंदन हनुमान जयंती महोत्सव समिति के सदस्य मुकेशदास जी महाराज, श्रीरामदास त्यागी टाट वाले बाबा, सुरेशचन्द्र पूरणमल जैन, श्रीमती सीमा जैन, राजेश रिंकू जैन,नीता जैन, जैकी जैन ने सभी श्रद्धालुओं से कथा में आने का आग्रह किया।

पंकज उदास ने फुटतालाब मंदिर के दर्शन किए-
भारत के प्रसिद्ध गायक पंकज उदास ने देर शाम होने वाले अपने कार्यक्रम के पहले आयोजन समिति के वरिष्ठ सदस्य सुरेशचंद्र पूरणमल जैन और राजेश रिंकू जैन के साथ फुटतालाब के श्रीहनुमान मंदिर के दर्शन कर श्रीमद भागवत कथा में पहुंचे और व्यासपीठ के दर्शन कर पप्पू भैया के साथ देवी निधि का अभिनंदन भी किया।

श्रीबांकेबिहारी के जीवंत दर्शन से भावुक हुए श्रद्धालु
फुटतालाब में देर शाम चल रहे कार्यक्रम में राजस्थान और बृज के कलाकारों ने बृज की होली और बृज के भजनों के साथ श्रीराधेकृष्ण की झांकियों का बहुत ही भावनात्मक चित्रण किया। विष्णुदत्त शर्मा और साथी कलाकरो ने कार्यक्रम का प्रारंभ, श्रीगणेश वंदना और श्रीहनुमान चालीसा के साथ कर श्रीबांकेबिहारी की महाआरती भी की। मंच पर बनाई गई। श्रीबांकेबिहारी की बहुत ही भावनात्मक और जीवंत झांकी ने उपस्थित श्रद्धालुओं को भावनात्मक रूप से श्रीकृष्ण से जोड़ दिया। बृज की पारंपरिक होली के नृत्य और गीतों ने फुटतालाब को बृजमय कर दिया। बृज के फल के साथ आये कलाकरो ने नृत्य नाटिकाओं के माध्यम से श्रीकृष्ण की बाल लीलाओं में माखन चोरी के साथ श्रीराधेकृष्ण और गोपियों संग की लीलाओं के मोहक नृत्यों से सभी का मन मोह लिया। कजरारे तेरे नैना, मोरे सुंदर सलोना। तूने मुझ पर कर दिया टोना और श्रीकृष्ण के सुमधुर भजनों ने श्रद्धालुओं को धर्म के शाश्वत स्वरूपो से जोड़ दिया। फुटतालाब में चल रहे मेले में भी बड़ी संख्या में ग्रामीण अंचलों से लोग पहुंच रहे हैं आयोजन समिति के सभी सदस्यों ने ग्रामीण माताओं बहनों और युवाओं से मेले में आने की अपील की है।

आज हंसराज रघुवंशी देंगे प्रस्तुतियां-
कार्यक्रम में आज देर शाम हंसराज हंस अपने लोकप्रिय भजन ‘मेरा भोला है भंडारी करे नंदी की संवारी के साथ’ और भी कई लोकप्रिय भजनों की प्रस्तुतियां देंगे। आयोजन समिति के युवा सदस्य जैकी जैन और रिनिष जैन ने सभी युवाओ और धर्म प्रेमियों से रात के कार्यक्रम में शाम 8 बजे और श्रीमद भागवत कथा में प्रतिदिन सुबह 10.30 बजे पर फुटतालाब में आने की विनम्र आग्रह किया।

)