डकैती का फरार इनामी अंतर्राज्यीय बदमाश सोमला गिरफ्तार, जोबट और इंदौर में की थी डकैती

जितेंद्र वर्मा, जोबट

पुलिस ने आरोपी सोमला को गिरफ्तार किया है। वह जोबट और इंदौर में हुई डकैती में शामिल था। मुखबिर की सूचना पर पुलिस ने उसे धरदबोचा।

दिनांक 24.05.2024 को अलीराजपुर अंतर्गत थाना जोबट में फरियादिया राधिका सोनी निवासी जोबट द्वारा बताया गया कि जब वे अपने निवास स्थान से लगी अपनी ज्वेलर्स शॉप पर बैठी थी तभी सुबह 11:45 बजे तीन मोटरसायकलो से आये आठ हथियारबंद आरोपियों द्वारा दुकान मे घुसकर फरियादिया को लोहे के फालिये से मारकर घायल कर दिया व दुकान मे रखे चांदी के जैवर व गले में पहनी सोने की चैन लूट कर ले गये । फरियादिया की रिपोर्ट पर तत्काल थाना जोबट में अपराध क्रमांक 281/2024 धारा 394, 395 भादवि की प्रथम सूचना रिपोर्ट पंजीबद्ध कर विवेचना मे लिया गया । अत्यधिक गंभीर व सनसनीखेज प्रकृति की घटना घटित होने से तत्काल पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास ने घटना स्थल का निरीक्षण कर आरोपियों को पकड़ने हेतु निर्देशित किया तथा संपूर्ण घटना में संवेदनशीलता को देखते हुए SIT का गठन कर  आरोपियों के संबंध में जानकारी देने वाले पर 10000 रू के ईनाम की उदघोषणा की थी। पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ग्रामीण श्री अनुराग द्वारा भी प्रकरण की गंभीरता के कारण प्रतिदिन समीक्षा की जाकर  लगातार आवश्यक निर्देश दिये जा रहे थे । इंदौर ग्रामीण रेंज डीआईजी निमिष अग्रवाल द्वारा भी घटना स्थल का भ्रमण कर एवं फ़रियादी से चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिये थे। पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास द्वारा लगातार घटना का पर्यवेक्षण किया जाता रहा तथा एस.डी.ओ.पी जोबट नीरज नामदेव के नेतृत्व में आरोपियों की गिरफ्तारी व लूटे गये जेवरों की बरामदगी के लिये विशेष अनुसंधान दल SIT व पृथक-पृथक 05 टीमों का गठन किया गया  था। उक्त पांचो टीमो द्वारा मुखबिर तंत्र, अत्याधुनिक विवेचना की तकनीको  का प्रयोग कर पतारसी की गई कि उक्त घटना को ग्राम कदवाल थाना बोरी के कुख्यात फरार आरोपी तथा ग्राम ढेलवानी के कुख्यात बदमाश की गैंग द्वारा किया गया है ।  जो तत्काल उक्त आरोपियान की धर पकड़ की कार्यवाही हेतु लगातार टीमों द्वारा विभिन्न स्थानों पर दिन रात दबिश दी गयी, अलग-अलग स्थानों पर रात्रि विश्राम किया गया। सभी पांच टीमों की प्रतिदिन के कार्यों की समीक्षा अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक प्रदीप पटेल द्वारा की जा रही थी। उक्त पांचो टीमो द्वारा आरोपियान के सम्बन्ध मे जानकारी जुटाई जाकर ग्राम कनवाडा मे संयुक्तरुप से दबिश दी गई, उक्त दबिश मे 04  कुख्यात आरोपी को पुलिस ने घर दबोचा था जब इनका आपराधिक रिकार्ड तलाशा गया तो पुलिस को ज्ञात हुआ कि इनके न केवल अलीराजपुर अपितु सीमावर्ती जिले तथा प्रदेश के विभिन्न जिलों में आपराधिक रिकार्ड होकर वान्टेड अपराधी हैं। उक्त आरोपियों से पुछताछ करते ग्राम बाकानेर के शिक्षक कॉलोनी मनावर के एक व्यक्ति को डकैती से प्राप्त किये  गये जेवरों को बेचना बताया जो आरोपियों की निशादेही पर  चांदी के आभूषण  लगभग 03 किलोग्राम कीमत लगभग 2,14,380 तथा एक सोने की चेन कीमत लगभग  50,000/-रू.  जब्त की गयी तथा आरोपियों से घटना में प्रयुक्त 02 हान्डा साईन मोटरसाईकिल लगभग 1,40000/- रूपये कुल मश्रुका कीमत लगभग 404380/-रूपये पुलिस ने बरामद कर लिया था ।

प्रकरण में फ़रार 04 अन्य आरोपियो की जोबट पुलिस सरगर्मी से तलाश कर रही थी। दिनांक 11.06.2024 को मुखबिर द्वारा सूचना प्राप्त हुई की सोमला पिता बदन सिंह निवासी बड़ी कदवाल थाना बोरी का अपनी गाड़ी उठाने मोटरसाइकिल से इंदौर जा रहा है ।तत्काल टीम द्वारा घेराबंदी की गई व आरोपी पुलिस को चकमा देकर धार-इंदौर रोड की ओर भागने लगा उसी समय घाटाबिल्लौद टोल नाके के पास पुलिस ने सोमला को दबोच लिया।

उल्लेखनीय है कि मध्यप्रदेश के अलीराजपुर अंतर्गत थाना जोबट में दिन-दहाड़े हुई सनसनीखेज वारदात से अलीराजपुर पुलिस ने इसे चुनैती के तौर पर देखा था तथा पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास द्वारा प्रकरण में फ़रार आरोपियों की शीघ्र गिरफ़्तारी हेतु SIT प्रभारी व जोबट SDOP नीरज नामदेव को सतत रूप से मार्गदर्शन प्रदान करने के कारण बोरी क्षेत्र के कुख्यात अंतर्राज्यीय बदमाश सोमला को गिरफ़्तार करने में सफलता प्राप्त की है।

ग़ौरतलब है कि सोमला बोरी क्षेत्र का नामी-गिरामी बदमाश है जिस पर अलिराजपुर,धार,इंदौर,गुजरात के विभिन्न थाना क्षेत्रों में लगभग 27 अपराध पंजीबद्ध है।पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास ने बताया कि अलिराजपुर पुलिस के अलावा भी अन्य जिलो की पुलिस को भी इस कुख्यात बदमाश की तलाश थी। पुलिस अधीक्षक द्वारा संपूर्ण टीम को उच्च स्तर से पुरूस्कृत कराने की घोषणा की है। पुलिस आरोपी का पुलिस रिमांड प्राप्त कर आरोपी से  पूछताछ कर माल बरामदगी व इस गैंग  के अन्य साथियों एवं इनके द्वारा की गई वारदातों के सम्बन्ध में जानकारी प्राप्त कर शेष आरोपियों को भी शीघ्र गिरफ़्तार करेगी।

सोमला को गिरफ़्तार करने में SDOP नीरज नामदेव के नेतृत्व में थाना प्रभारी जोबट सोनू सिटोले,SI पन्नालाल,ASI मनीष कुमार,ASI सुदीप,HC दिलीप , HC रमेश डाबर ,आरक्षक नीलेश,आरक्षक गजेंद्र , आरक्षक चैन सिंह,आरक्षक मनीष,आरक्षक धनसिंह, व आरक्षक दीपक ,आरक्षक नीलेश पाल की उल्लेखनीय भूमिका थी।

जोबट डकैती में पुलिस अधीक्षक राजेश व्यास द्वारा पुलिस अधिकारियों एवं कर्मचारियों की इस सफलता के लिए पुलिस महानिरीक्षक इंदौर ग्रामीण को नगद ईनाम की अनुशंसा की जा रही है । साथ ही राजपत्रित अधिकारियों को पुलिस महानिदेशक मध्यप्रदेश की ओर उचित ईमान हेतु भी भेजी जा रही है अनुशंसा।