झाबुआ लाइव के लिए झकनावदा से जितेंद्र राठौड़ की रिपोर्ट-
झकनावदा व आसपास के किसानों को लंबे इंतजार के बाद बड़ी सौगात मिल ही गई। झकनावदा उपमंडी शुरू होने के बाद अब झकनावदा उपमंडी में भावांतर योजना मे खरीदी हुई।
सोयाबीन कपास की बंपर आवक
झकनावदा में उपमंडी प्रांरभ करने के बाद हाट बाजार मे सोयाबीन और कपास की बंपर आवक हुई। मंडी मे 1580 क्रिव्टलं सोयाबीन की रेकार्ड आवक हुई जिसमे 980 क्विंटल सोयाबीन भावांतर योजना में खरीदी गई जबकि 600 सोयाबीन बिना पंजीयन खरीदा गया, जबकि 110 क्विंटल कपास खरीदा गया।
2801 रुपए सोयाबीन तो 5350 बिका
झकनावदा में सोयाबीन की सबसे ऊंचा भाव 2801 में अग्रवाल कृषि सेवा केन्द्र ने सोयाबीन खरीदा जबकि न्यूनतम 2500 रुपए क्विंटल सोयाबीन बिका।
मंडी प्रशासन ने सुचारु रूप से की व्यवस्था
झकनावदा मे भावांतर योजना मे खरीदी से किसानों में हर्ष है मंडी मे खरीदी केन्द्र बाद अब किसानों को पेटलावद अपनी उपज बेचने नही जाना पड़ेगा, पिछली बार अस्पताल ग्राउंड में जगह कम होने के कारण इस बार मंडी राजा नरवरसिंह ग्रांउड में लगाई गई जहां बड़ी संख्या में किसान सोयाबीन लेकर पहुंचा। मंडी प्रशासन ने भी किसानों के लिए सुविधा उपलब्ध करनाई और ठंडे जल की केन मैदान के चारों रखवाई जिससे किसानों को पानी उपलब्ध करवाय। मंडी प्रशासन की ओर से मंडी सचिव आरआर खान, एसएन व्यास, भेरूलाल परमार औसारी आदि ने झकनावदा मंडी उपस्थित रहे।
मंडी प्रांरभ होने से नगर में हुआ व्यापार
झकनावदा में मंडी प्रांरभ होने से झकनावदा का व्यापार मे भी बड़ा इजाफा देखा गया। गौरतलब है कि मंडी नहीं होने के कारण किसान उपज लेकर पेटलावद या राजगढ़ जाते थे परंतु मंडी चालू होने से अब किसान अपनी फसल झकनावदा बाजार मे ही बेच रहे है। झकनावदा मंडी मे 50 से अधिक गांवों के लोग अपनी फसल बेचने झकनावदा आए, जिससे किसानों और व्यापारियों सहित पूरे नगर के मंडी खुलने से लाभ हुआ