भारतीय संस्कृति को बचाने हुआ मातृ-पितृ पूजन दिवस का आयोजन

0
59

भूपेंद्रसिंह नायक, पिटोल
आज 14 फरवरी को पूरा विश्व पाश्चात्य संस्कृति के प्रतीक वैलेंटाइन डे मना रहा है। वही पिटोल जैसे छोटे से गांव में योग वेदांत समिति के संचालक जगदीश खतेडिय़ा द्वारा संचालित श्री आशाराम गुरुकुल में मातृ पितृ पूजन दिवस का आयोजन हुआ जिसमें बच्चों द्वारा अपने माता पिता को कंकू-तिलक लगाकर मिट्टी के दीए से आरती कर उनके चरणों में कंकू फूल रखकर माता-पिता की पूजा की व आशीर्वाद लिया। कार्यक्रम में पिटोल के अलावा आसपास के ग्रामीण बच्चों के माता-पिता ने भी हिस्सा लिया। कार्यक्रम में स्वाति शर्मा, रेणुका नायक, रवीना पंचाल, अनीता नायक आदि का योगदान सराहनीय रहा।
)