पिटोल। गांव के धार्मिक एवं सामाजिक वयोवद्ध एवं लबाना समाज प्रेमसिंह बड़दवाल उर्फ जेनूबाबा के निधन से गांव में शोक की लहर छा गई। जेनू बाबा धार्मिक एवं सामाजिक कार्य में हमेशा अग्रणी रहते थे। पिटोल एवं आस पास के गांवो में उन्हें आदिवासी के मसीहा के नाम से जाने जाते थे। वे हमेशा गरीब ग्रामीण तबके के लोगों को आर्थिक मदद के लिए तत्पर रहते थे, जिससे पिटोल क्षेत्र में दयालु ख्याति थी। जेनूबाबा झाबुआ विधायक शांतिलाल के विधायक प्रतिनिधि तथा जगदीशचन्द्र बड़दवाल के पिता थे। जेनु बाबा अपने पीछे चार पुत्र रमेश, सुरेश, जगदीश एवं मोहन का भरा-पूरा परिवार है। जेनूबाबा के निधन से समस्त बड़दवाल परिवार मे शोक व्याप्त है।