पहली ही बारिश से गड्ढों में तब्दील हुआ 900 मीटर का बस स्टैंड पहुंच मार्ग, हादसों के बीच सफर करने को मजबूर राहगीर

0
349

जीवनलाल राठौड़, सारंगी
लोक निर्माण विभाग की अनदेखी के चलते राहगीर वाहन चालकों के साथ साथ आमजन के लिए लगातार मुसीबत का सबब बनती जा रही है। इसके बाद भी विभाग की अनदेखी वर्षाकाल में आमजन के लिए बहुत भारी पड़ती नजर आ रही है क्योंकि यह मार्ग पूरी तरह गड्ढों में तब्दील हो चुका किसी दिन भी बड़े हादसे हो सकता है । वहीं मानसून की पहली ही बारिश में इस मार्ग के गड्ढे में पानी भर गया और पानी रोको अभियान को सार्थक बना रहा है। इसका ताजा उदाहरण थांदला बदनावर के मार्ग पर स्थित सारंगी बस स्टैंड पहुंच मार्ग पर आसानी से देखा जा सकता 900 मीटर के इस मार्ग पर सडक़ कम और गड्ढे अधिक नजर आ रहे। लंबे समय से यह मार्ग अपनी दुर्दशा पर आंसू बहा रहा यह मार्ग अब आमजन के लिए लगातार परेशानी का सबब बनता जा रहा है। क्योंकि पिछली बारिश से ही यह मार्ग अधूरा पड़ा हुआ है। पिछली बारिश में भी कई दोपहिया वाहन चालक दुर्घटनाग्रस्त होकर गंभीर रूप से घायल हो चुके हैं। वही एक स्कूली बस भी दुर्घटनाग्रस्त हो चुकी है, उसके बावजूद भी कई बार शिकायत होने पर भी जिम्मेदार अधिकारियों की कानों पर जूं तक नहीं रेंगी है। ग्रामीणों का कहना है कि बारिश के दिनों में इस मार्ग निकलना दुश्वार हो जाएगा अभी तो बारिश का शुरुआती ही दौर है। इस संबंध में जिला पंचायत उपाध्यक्ष चंद्रवीर सिंह राठौर का कहना है कि सोमवार को झाबुआ आगमन पर प्रदेश के मुखिया कमलनाथ कैबिनेट मंत्री सज्जन सिंह वर्मा एवं जीतू पटवारी को भी इस मार्ग की दुर्दशा से अवगत करवाया है। अब देखना यह है कि यह पहुंच मार्ग आमजन की कसौटी पर आने वाले समय में कितना खरा उतर पाएगा। गौरतलब है कि यह मार्ग थांदला-बदनावर से जुड़ा होने के चलते यहां बड़ी संख्या में वाहनों की आवाजाही बनी रहती है वही यह मार्ग सीधे रतलाम को भी जोड़ता है इसलिए प्रतिदिन रतलाम की ओर जाने वाली यात्री बसों को भी इस मार्ग से गुजरना पड़ता है।
)