नवरात्रि के अंतिम दिन खूब जमा गरबों रंग

0
289

भूपेंद्रसिंह नायक पिटोल
पिटोल में नवमी की रात को गांव के तीनों गरबा पंडालों में गरबा खेलने वाले और देखने वालों की काफी भीड़ रही। पिटोल के आसपास के 15 गांव के आदिवासी ग्रामीण भी गरबों में देखने और खेलने के लिए आते हैं राधा कृष्ण मंदिर आजाद चौक शिवाजी चौक पर गरबो का आयोजन किया जाता है जिसमें तीनों जगह पर आकर्षक विद्युत सज्जा साउंड सिस्टम एवं माता की मूर्तियों की घट स्थापना की जाती है। इस बार राधा कृष्ण मंदिर पर बंगाली कलाकारों द्वारा बनाई गई इको फ्रेंडली मूर्ति लाए थे। इन पंडालों में सुबह 4 बजे तक गरबे चलते रहे राधा कृष्ण मंदिर पर गरबों के लिए लबाना समाज पिटोल द्वारा मां म्यूजिकल ग्रुप दाहोद की गरबा गाने वाली पार्टी को बुलाया था, राधा कृष्ण मंदिर पर गरबा खेलने वाली बालिकाओं एवं महिलाओं को प्रतिवर्ष अनुसार इस वर्ष भी श्रीमती साधना शाह द्वारा पुरस्कार वितरण किया वही शिवाजी चौक पर आयोजकों द्वारा कैसरोल के डिब्बों को गरबा खेलने वालों को दिए गए, तीनों पंडालों द्वारा रोजाना स्वच्छ भारत अभियान के तहत सिंगल यूज प्लास्टिक मुक्त भारत के संदेश को प्रसारित किए। अंतिम दिन तीनों पंडालों के आयोजकों द्वारा गरबा खेलने वालों एवं देखने वालों के लिए चाय एवं स्वल्पाहार की व्यवस्था की थी सभी पंडालों की मूर्तियों को सुबह 6 बजे पिटोल से 8 किमी दूर मोदी पर ले जाकर विसर्जित की गई। तीनों पंडाल द्वारा झाबुआ विधानसभा उपचुनाव के चलते आचार संहिता के नियमों का पालन किया गया और समय-समय पर चुनाव आयोग की टीम द्वारा भी पिटोल के गरबा पंडालों का मुआयना किया गया 9 दिनों तक निर्विघ्नं एवं शांतिपूर्ण गर्भ में पुलिस चौकी प्रभारी हरनाथ सिंह चौहान, प्रधान आरक्षक ओम प्रकाश जोशी, प्रधान आरक्षक मुकेश बरडे, आरक्षक अशरफ, अनिल मुवेल, अंतिम, सुरेश, अमीश आदि पुलिस चौकी के स्टाफ ने प्रशासनिक व्यवस्थाएं बनाए रखी।
)