17बार चुने गए सांसदों में 11 बार भूरिया जाति के बने लोकसभा सांसद

0
958

चंद्रभानसिंह भदौरिया, चीफ एडिटर
झाबुआ रतलाम संसदीय क्षेत्र में करीब 76 फीसदी मतदाता आदिवासी वर्ग के आते हैं, जिनमें जातिवाद की भावना नहीं है। भील, भिलाला व पटलिया आदिवासी समुदाय आपस में गांव-फलियों में मिल-जुलकर रहते हैं। लेकिन फिर अगर चुनावी राजनीति की बात करे तो अभी तक 16 लोकसभा के चुनाव हुए हैं, और एक बार 16वीं लोकसभा के लिए उपचुनाव भी हुआ है। इन चुनावों में वर्ष 1952 से लेकर अभी तक कुल 6 नेता लोकसभा में सांसद के रूप में पहुंचे है इनमें से सभी भील समाज से आते हैं, इस समाज में कई जातियां-उपजातिया है, लेकिन यह पूरा संसदीय क्षेत्र भूरिया जाति पर खासा मेहरबान रहा है। अभी तक पांच बार स्व.दिलीपसिंह भूरिया सांसद रह चुके हैं, तो पांच से से कांतिलाल भूरिया भी सांसद है, इसके अलावा सुरसिंह भूरिया सन् 1967 में लोकसभा के लिए सांसद चुने गए थे। इस तरह 16 लोकसभा में से 11 लोकसभा में भूरिया जाति के सांसद पहुंचे हैं।
)

नोट – अगर आप झाबुआ – अलीराजपुर जिले के मूल निवासी है ओर हमारी खबरें अपने वाट्सएप पर चाहते है तो आप हमारा मोबाइल नंबर 8718959999 को पहले अपने स्माट॔फोन मे सेव करे ओर फिर Live news लिखकर एक मेसेज भेज दे आपको हमारी न्यूज लिंक मिलने लगेगी

नोट : अगर पहले से हमारे मोबाइल नंबर 9425487490 से हमारी खबरें पा रहे हैं तो कृपया ऊपर वर्णित खबर पर न्यूज के लिए मैसेज न भेजे।