भक्ति ईश्वर तक पहुंचने का सबसे सुगम साधन है- जया किशोरी

c2f3df7a-c7c7-45db-a16b-938e2a20123a 4 (1) 5 (1)झाबुआ लाइव के लिए मेघनगर से भूपेंद्र बरमंडलिया की रिपोर्ट-
संसार की सब वस्तुऐ सब देशो में सब समय नहीं है , उनकी प्राप्ति के लिए परिश्रम करना पड़ता है। परंतु परमात्मा सब देश में है, सब काल में है, सम्पूर्ण व्यक्तियो में है, सम्पूर्ण संसार में है , उनकी प्राप्ति के लिए बस सच्चे मन से तीव्र इच्छा शक्ति की आवश्यकता है। प्रयास की नहीं बल्कि अभिलाषा की आवश्यकता है स ईश्वर के प्रेम के साथ भक्ति ही उन तक पहुँचने का सबसे सुगम मार्ग है। ज्ञान से प्रेम ज्यादा भारी है। गोपियों का उद्धव संग संवाद श्रीमद भागवत कथा का हृदय है, इस संवाद को ध्यान पूर्वक सुने। ये बात बालव्यास राधा स्वरूपा पूज्या जया किशोरी ने श्री वनेश्वर मारुति नंदन हनुमान मंदिर फुटतालाब मेघनगर मध्यप्रदेश में चल रही श्रीमद भागवत कथा के छँटे दिवस कही। पूज्या किशोरी ने उद्धव जी के साथ मां यशोदा वासुदेव और गोपियो श्री राधा के साथ संवादो का बहुत ही मर्म स्पर्शी वृतांत सुनाया स उन्होने मीरा के साथ श्री कृष्ण के प्रेम का भावविभोर कर देने संवाद सुनाया स इन वृतातों को सुनकर उपस्थित श्रद्धालुओ के आंखे भीग गई। किशोरी ने बताया की प्रेम किसे कहते है, प्रेम की पराकाष्ठा क्या होती है, प्रेम कैसे ज्ञान पर भारी हो जाता है, इसका रीति नीति गोपियों एवं उद्धव के संवाद से समझी जा सकती है स कहते है प्रेम जब अनंत होगा तो रोम रोम संत हो जाएगा, देवालय हो जाएगा। प्रेमियो को ही प्रेम की प्राप्ति होती है स हमारे श्री ठाकुर जी ने जिससे भी प्रेम किया उसके लिए अपना मान सम्मान, ऊंच नीच और कुल कुछ नहीं देखा स आप सब भी ईश्वर से निस्वार्थ प्रेम करे , उनके भक्ति करे। श्रीमद भागवत कथा के कृष्ण और रुखमणि जी के विवाह का प्रसंग भी पूरे भाव के साथ प्रस्तुत किया गया , जिसमे श्री कृष्ण की बारात और उनके रुकमणि संग विवाह में उपस्थित हजारो लोगो ने भाग लिया स श्रीराधा जी के घर कृष्ण का वेश बदलकर चूड़ी बेचने जाना का प्रसंग श्याम चूड़ी बैचने आया भजन के साथ अवतरित किया गया। जो प्रसंग हुए उसमे नन्द के बाबा को वरुण देवता के गणो से भगवान का छुड़ाकर लाना, कामदेव का पराजित होना, महारास लीला जिसमे पंडाल पूरे मन से कृष्ण रास में डूब गया, मनीहरि की लीला, अंकुर का वृंदावन आकार ठाकुर को मथुरा ले जाना, गोपियो से बिछोह, कंस वध, गुरुकुल जाना, कालयवन वध। मुख्य अतिथि के रूप में जिले के एएसपी सीमा अलावा उपस्थित थी। सुरेशचन्द्र पूरणमल जैन ने अपने परिवार और अलावा के साथ मिलकर श्रीमद भागवतकी महाआरती की। सिद्धिविनायक गणेश मंदिर टीचर्स कालोनी के महिलाओं ने श्रीमति सीमा सुरेशचन्द्र जैन के साथ मिलकर पूज्या जया किशोरी जी का स्वागत कर उन्हे श्रीगणेश की प्रतिमा भेंट की स जैकी जैन और रिंकू जैन ने आज श्रीराम भक्त हनुमान की जयंती पर दोपहर में होने वाली श्रीहनुमान की महाआरती और महाप्रसादी के के लिए मेघनगर के साथ जिले और प्रदेश वासियो को भी आमंत्रित किया है। वशेष रूप से पशु विभाग के डिप्टी डारेक्टर और लबाना समाज के राष्ट्र्रीय अध्यक्ष रंजीतसिंह , पूर्व विधायक वाल सिंह मैड़ा, समाजसेवी सुजानमाल बाफना, गूडु ठाकुर भी उपास्थित थे।जैन और श्री वनेश्वर मारुति नंदन हनुमान समिति ने प्रतिदिन बड़ी संख्या में आने वाले श्रद्धालुओ का आभार व्यक्त किया है