बैलीडांस पर नगर परिषद अध्यक्ष की सामने आई सफाई, कहा सराहनीय था आयोजन

0
602

झाबुआ लाइव के लिए थांदला से रितेश गुप्ता की रिपोर्ट-
बैलीडांस पर कांग्रेसी सांसद एवं पार्षदों द्वारा दिए गए बयानों के विरोध में अध्यक्ष नगर परिषद थांदला सुनीता वसावा ने प्रेसनोट जारी कर उन पर आरोप लगाए कि सांसद कांतिलाल भूरिया एवं पार्षदों द्वारा झूठी बयानबाजी की जा रही है जबकि नगर परिषद द्वारा सफल एवं सराहनीय कार्यक्रम करवाया गया है। कांग्रेसी पार्षदों ने तो कार्यक्रम की रुपरेखा एवं कार्यक्रम की तैयारी के लिए आयोजित परिषद की बैठक में सहमति भी दी गई थी।
वीडियो की जाए सार्वजनिक
इस पर नेता प्रतिपक्ष अक्षय भट्ट ने कहा कि परिषद की बैठक के दौरान हमने कार्यक्रम हेतु सहमती दी थी परन्तु बैली डांस के लिए हमारी सहमति नहीं थी जिसका हमने उसी समय विरोध किया एवं कार्यक्रम के दौरान भी हमने ही विरोध करवा कर उसे बंद करवाया था नहीं तो और भी इसी तरह के कार्यक्रम नगर परिषद द्वारा करवाया जाना शेष थे। अध्यक्ष द्वारा बैठक का वीडियो भी करवाया गया था अध्यक्ष उस वीडियो को सार्वजनिक करे तो स्पष्ट हो जाएगा कि हमने किस बात का विरोध किया था एवं किस बात समर्थन। यही नही दशहरे पर रावण दहन के उपरान्त विक्र चौहान के कार्यक्रम का तो जिक्र भी बैठक के दौरान नहीं किया गया और वह कब आया और कब चला गया यह भी नगरवासियों को तो पता ही नहीं चला?
किसके लिए कार्यक्रम सराहनीय रहा?
ये तो हो गई कांग्रेस एवं भाजपा की राजनैतिक कहासुनी, परन्तु नगर के गौरव एवं सम्मान के दृष्टिकोण से देखा जाए तो नगर परिषद अध्यक्ष द्वारा जिस तरह से कार्यक्रम को सराहनीय कहा सकता है? क्या इस तरह के डांस सार्वजनिक एवं दशहरा जैसे धार्मिक पर्व पर किसी मंच से करवाया जाना सराहनीय किस तरह के चरित्र रखने वाले लोगों द्वारा कहा जा सकता है। नगर का सभ्य समाज तो फुहड़ बैली डांस जैसे आयोजन कि कभी सराहना नहीं करेगा। यहां तक कि कार्यक्रम के प्रमुख अतिथि विधायक कलसिंह भाबर भी ऐसे कार्यक्रम मे अपनी उपस्थिति पर आत्म ग्लानी महसूस कर रहे थे तो आखिर वे कौन है जिन्हे कार्यक्रम सराहनीय लगा होगा?