झाबुआ Live डेस्क के लिए पेटलावद से ” हरीश राठोड की रिपोर्ट ” 

झाबुआ जिले की पेटलावद तहसील के कसारबरडी गांव मे घुसा टाइगर अभी भी गांव के आउटर के जंगलो मे है कल लगाऐ गये नाइट विजन कैमरों मे वह तीन दिन पहले किए गये शिकार के बचे हुए हिस्से को खाता हुआ दिखाई दिया । इससे पुष्टि हो गयी है कि अभी टाइगर ने अपनी मूवमेंट नहीं की है । डीएफओ राजेश खरे ने झाबुआ Live को बताया कि ” टाइगर ” कसारबरडी मे ही है अब उसके द्वारा किये गये शिकार को वह पूरी तरह से खा चुका है इसलिए अगर उसे यही रहना होगा तो आज वह शिकार करेगा । ओर आगे बढने का मूड होगा तो आगे की ओर बढ जायेगा । इसलिए वन विभाग का अमला आज ओर इंतजार करेगा ओर जब यह तय हो जायेगा कि अब यह मूवमेंट नहीं कर रहा है तो पिंजरा लगाकर उसे पकडकर सुरक्षित इलाके मे छोडा जायेगा । पिंजरा आ चुका है ओर पीसीसीएफ स्तर की अनुमति भी हो चुकी है लेकिन पिंजरा लगाने के पहले आज वन विभाग निगरानी करेगा ।