झाबुआ लाइव के लिए थांदला से रितेश गुप्ता की रिपोर्ट-
नगर के बच्चों ने जीवदया व पर्यावरण प्रेम की नई मिसाल बनाते हुए संकल्प लिया की वे इस बार दिवाली सादगी से मनाएगे व इस दिवाली पर पटाखों पर खर्च करने के बजाए उन पैसों से गरीब बच्चों को कपड़े बाटंकर मिसाल बनााई। 12 वर्षीय सुयश राकेश तलेरा व 10 वर्षीय विशेष प्रफुल्ल तलेरा ने इस दिवाली पटाखे न फोडऩे का संकल्प लिया व पटाखों पर होने वाले हजारों के खर्च का सदउपयोग करते हुए 17 ग्रामीण बच्चों को भंडारी रेडिमेड स्टोर पर ले जाकर उन्हें उनकी पसंद के कपड़े दिलाकर अपने संकल्प को पूर्ण किया। सुयश व विशेष ने बताया कि जैन समाज कि धार्मिक मान्यताओं अनुसार है पटाखे फोडऩे से सूक्ष्म जीव मर जाते है व पर्यावरण भी दूषित होता है इन बातों से प्रेरणा लेते हुए उन्होंने आजीवन पटाखे न फोडऩे का संकल्प लिया व पटाखों पर होने वाले खर्च की राशि का उपयोग गरीब बच्चों के लिए करेंगे।