आखिरकार पकड़े गए मोन्नत दम्पत्ति, 5 वर्ष से चल रहे थे फरार

0
2724

सलमान शैख़@पेटलावद
5 वर्ष पूर्व हुए पोस्ट आफ़िस घोटाले के मास्टरमाइंड मोन्नत दम्पत्ति आखिरकार पुलिस की पकड में आ ही गए।
सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पेटलावद पुलिस ने आरोपी श्रेणिक मोन्नत और आशादेवी मोन्नत को गिरफ्तार कर थाने लाई है। अभी इसका खुलासा पुलिस ने नही किया है। जल्द ही पुलिस इसका खुलासा करेगी, कि यह दोनों कहां रह रहे थे और इन्हें कहां से गिरफ्तार किया गया। एजेंट ने कर्मचारियों के साथ मिलकर किया घोटाल:
बता दे कि पेटलावद उप डाकघर में सैकड़ों उपभोक्ताओं ने अपनी रकम जमा की थी। एजेंट संदीप मौन्नत, आशादेवी मौन्नत व श्रेणिक मोन्नत ने सहायक पोस्ट मास्टर मंगलसिंह निनामा, पोस्ट मास्टर सहायक भारतसिंह बारिया, सहायक जितेंद्र वर्मा के साथ मिलकर उनकी राशि हड़प ली थी। पोस्ट ऑफिस में काफी समय से तत्कालीन पोस्ट ऑफिस एजेंट आशादेवी मौन्नत व उनके पुत्र संदीप मौन्नत सहित अधिकारियों-कर्मचारीयों की सांठगांठ के चलते खाताधारकों के खातों से करोड़ों की हेराफेरी सामने आने पर हड़कंप मच गया था।
डाकघर की नकली सील और एंट्री भी पासबुक में कर दी ताकि उपभोक्ताओं को किसी प्रकार का शक न हों। जब मामले का खुलासा हुआ तो पुलिस ने उपभोक्ताओं की शिकायत पर आरोपियों के विरुद्ध धारा 420, 467, 468, 471, 406, 409, 34 में प्रकरण दर्ज किया था। इसके बाद से ही यह दोनों फरार चल रहे थे।

)