अपने ही किए गए शिकार को खाने दोबारा लौटा टाइगर, नाइट विजन कैमरे में हुआ कैद

0
3974

झाबुआ लाइव डेस्क के लिए हरीश राठौड़/ लोकेंद्र चाणोदिया/अर्पित चोपड़ा की रिपोर्ट-
उज्जैन से चलकर धार और रतलाम में भय का माहौल बनाने के बाद अब टाइगर (बाघ) झाबुआ जिले में पहुंच गया है। कल कसारबरड़ी गांव में उसने एक गाय का शिकार किया था, और उसे अधूरा खाकर लौट गया था। वन विभाग की टीम ने उसी मृत गाय के अवशेषों को कसारबरडी के जंगल में छोड़ दिया और नाइट विजन कैमरे लगा दिया। वन विभाग की योजना कामयाब रही और बुधवार सुबह नाइट विजय कैमरे की रिकॉर्डिंग देखने पर बाघ यानी टाइगर द्वारा किए गए शिकार को खाता नजर आया। अब इस तरह से पुष्टि हो गई है कि झाबुआ जिले की पेटलावद तहसील में टाइगर की आमद है। वन विभाग की कई टीमे अब इस बाघ को पकडऩे की रणनीति के काम में जुटी है। डीएफओ राजेश खरे ने बाघ के नाइट विजन कैमरे में कैद होने की पुष्टि कर दी है।