मां की मोत के सदमे मे बेटा भी चल बसा..

May

अलीराजपुर लाइव के लिऐ “बरझर” से फिरोज खान (बबलू) की रिपोट॔ ॥IMG-20150611-WA0372

 

जनपत पंचायत चशै आजाद नगर के ग्राम बरझर गाव मे आज बुधवार गुरूवार  की मध्य रात्री दो बजै कैन्सर पीङित रेशम बाई का दुखद निधन हो गया । उसी के सदमे मे अपने बैटे जगदीश बन्जारा की सरकारी अस्तपताल दाहोद मे मोत हो गई ।

गरीबी रेखा क्रमाक 1052  के निचे जीवन यापन करने वालै छगन लाल बन्जारा की पत्नी रेशम बाई करीब एक साल से कैन्सर से पिङीत थी । माली हालात ठीक ना होने से छगन लाल ने जन सुनवाई मे पत्नी का कैसर इलाज के लियै आवेदन दिया था । आवेदन की सुनवाई नही होने कै कारण फिर एक बार जन सुनवाई मे आवेदन दिया व कलेक्टर साहब ने छगन लाल से कहा तेहसील भाबरा जाकर आपके दस्तावेज द देना जो मै लेकर गया व कागजात भी दे दियै । परन्तु तेहसील  कायालय भाबरा से वो फाईल कहा जाकर अटकी वो छगनलाल को पता नही । उसके बाद भी कजॅ लेकर अपनी पत्नी को लेकर अहमदाबाद ( गुजरात ) लेकर गया । गरीबी हालात होने के चलते ज्यादा दिन ईलाज रेशमा बाई का नही करा पाया । आज उसका नतिजा छगन लाल बन्जारा को पत्नी कै साथ इकलोते बैटै कै रूप मे चुकाना पङा ।

मृतक जगदीन भी मा के सदमे मे अचानक तबीयत बीगङने के चलते सुबह 7:30 बजै दाहोद ले गये । रलीयाती अस्पताल दाहोद  मे कैस ना लेने के चलते जगदीश के ससुर सरकारी अस्तपताल  लेकर पहुचे । अस्पताल पहुचते ही जगदीश ने दम तोङ दिया । जगदीश अपने परिवार मे पत्नी सहित तीन छोटी छोटी लङकीया छोङ चला गया ।

आज जब इस तरह  एक ही परिवार मे दो मोत की घटना जिस किसी ने सुनी सुन कर हेरान रह गये । मा व बैटै की जब एक साथ दो अथीॅ उठी ग्रामीणो की आखै नमः हो गई । एक साथ दो अथीॅ उठने का गाव मे पहला मामला है ।

पत्रकार दाराॅ  इस “गरीब परिवार मे  दो  मोत ” का मामला जब वाटसाप पर चलाया तो हम ददॅ भाबरा सीईओ  V K श्रीवास्तव के निदेश के बाद पंचायत मंत्री बरझर  पुनमसिह परमार ने घर पहुच कर 2  हजार रूपये सहायता राशी दी । साथ ही तैहसीलदार संजय वाघमारे ने भी पत्रकारो से  पिङित टरिवार का हाल चाल जाना व हर सम्भव मदद का आस्वासन दिया

परन्तु आज गरीबी की प्रात्रता होने कै बाद भी किराये कै मकान मे रहने को मजबुर है । यही किसी तरह जन प्रतिनिधी या जिला अधिकारी की पहल पर कुटीर व जमीन आवटीत कर दि जाये तो एक विधवा अपनी तीन लङकीयो का गुजारा कर सकेगी