बधाई हो!! फ्लिपकार्ट की ओर से आपने जीती है टाटा सफारी? जानें सच

0
440

सलमान शैख़@झाबुआ Live…
आए दिन आपके फोन पर फेक मैसेज आते रहते होंगे। कभी आपको सच्चाई पता चल जाती है, तो कभी झूठ को आप सच मान लेते हैं। हाल ही कई फोन्स पर मशहूर ऑनलाइन रिटेल कंपनी ‘फ्लि‍पकार्ट’ के नाम से मैसेज भेजे जा रहे हैं। मतलब कथित तौर पर। इसमें लिखा है, ‘फ्लिपकार्ट की ओर से आपने जीती है टाटा सफारी गाड़ी’।
‘फ्लिपकार्ट की ओर से आपने जीती है टाटा सफारी गाड़ी’। अगर आपको मोबाइल पर ऐसा कोई मेसेज प्राप्‍त हो तो सावधान हो जाएं। बहकावे में आकर कोई इंस्‍ट्रक्‍शन फॉलो करने से पहले उस मेसेज की सच्‍चाई जानने का प्रयास करें। मोबाइल पर इनाम प्राप्‍त करने जैसे मेसेज की आजकल भरमार है।
हाल ही में एमपी के झाबुआ जिले के पेटलावद शहर में रहने वाली प्रियंका गरवाल ने उनके मोबाइल पर आए ऐसे मेसेज के बारे में हमें बताया।
यहां देखें क्‍या मेेसेज मिला…:
‘बधाई हो! आपने फ्लिपकार्ट ऑनलाइन शॉपिंग की ओर से 12 लाख रुपये की टाटा सफारी कार जीती है। इसको प्राप्‍त करने के लिए आपको रजिस्‍ट्रेशन सर्विस फीस के तौर पर 6,450 रुपये जमा करने होंगे। अधिक जानकारी के लिए हमारी 24 घंटे हेल्‍पलाइन सेवा 9801928043 पर संपर्क कर सकते हैं।’
सुश्री प्रियंका ने बताया कि मेसेज के तुरंत बाद उन्‍हें 7294054021 नंबर से कॉल आया। उस कॉलर ने उनसे कहा कि बधाई हो आपने फ्लिपकार्ट की ओर से टाटा सफारी कार जीती है। इसके बाद 9801928043 से वाट्सअप मेसेज आया। जिसमे बताया गया कि आपको हमारे एसबीआई के अकाउंट में 6,450 रुपये जमा करने होंगे। फिर आपको यहां लखनऊ से ही गाड़ी डिलिवर की जाएगी। साथ ही आधार कार्ड की कॉपी और तीन फोटोग्राफ भी भेजने को कहा गया।
प्रियंका को शक हुआ तो उन्‍होंने फ्लिपकार्ट के टोल फ्री नंबर पर फोन करके यह जानने का प्रयास किया कि क्‍या वाकई में कंपनी की ओर से उन्‍हें कोई ऐसा ऑफर दिया गया है। उधर से जवाब आया कि नहीं उनकी ओर से न ही कोई ऐसा मेसेज भेजा गया और न ही उनके यहां ऐसा कोई भी ऑफर किसी भी कस्‍टमर को दिया जा रहा है।
इस बारे में पुष्टि करने के लिए हमने स्‍वयं फ्लिपकार्ट के ट्रोल फ्री नंबर 180 0208 9898 पर कॉल किया तो कुछ देर में हमें कॉल बैक करने का आश्‍वासन मिला। उसके बाद फ्लिपकार्ट की ओर से फोन आया। जब हमने उनसे पूछा कि क्‍या आपकी ओर से ग्राहकों को ऐसे कोई ऑफर दिए जा रहे हैं कि आपने टाटा सफारी गाड़ी जीती है, तो उन्‍होंने बताया कि उनकी तरफ से ऐसे किसी भी ऑफर के बारे में किसी ग्राहक को फोन नहीं किया गया। इस तरह से यह बात साबित हो गई कि प्रियंका को मिला मेसेज पूरी तरफ फर्जी था।
आप सभी लोगों से इस प्रकार की जानकारियां शेयर करने का उद्देश्‍य आपको ऐसे ऑनलाइन होने वाले धोखे से बचाना है। आजकल इस तरह के मेसेज भेजकर लोगों को ऑनलाइन फ्रॉड का शिकार बनाया जा रहा है। आप इस तरह के जाल में फंसकर किसी से कहीं भी अपने अकाउंट और आधार की जानकारी शेयर न करें। आपको भविष्‍य में आपको भी कोई ऐसा मेसेज प्राप्‍त हो तो पहले उसकी सारी सच्‍चाई जानने का प्रयास करें।
हम आपको इसी तरह की फेक खबरों से सावधान करते रहेंगे। पढ़ते रहिए, बचते रहिए।