आम्बुआ जोबट तिराहे मार्ग पर बेतरतीब खड़े रहते हैं वाहन,आ ने जाने वाले अन्य वाहनों को नहीं दिखता है आगे मार्ग

मयंक विश्वकर्मा, आम्बुआ

आम्बुआ कस्बे से बाहर राष्ट्रीय राजमार्ग 56 हो या जोबट तिराहा हो यहां वाहन चालक अपने वहान कहीं भी सड़क किनारे खड़े कर देते हैं जिस कारण आमने-सामने से आने वाले वाहन चालकों को आगे का मार्ग तथा आने वाले वाहन दिखाई नहीं देते हैं कभी भी यहां भयंकर दुर्घटना होने की संभावना बनी रहती है।

          यातायात नियमों की अनदेखी तथा वाहन चालकों को या तो नियम नहीं मालूम या फिर वह जानना नहीं चाहते हैं यही कारण कि वे भारी तथा हल्के चार पहिया वाहन आठ पहिया अथवा 12-16 पहिया वाहनों को सड़क के दोनों किनारो तथा ऐसे स्थान पर खड़े कर देते हैं कि इन वाहनों के कारण आने जाने वाले अन्य वाहन चालकों को सामने से आने वाले वाहन दिखाई नहीं देते हैं कई बार वाहनों की गति भी तेज होती है यह स्थिति आम्बुआ में राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक 56 गांधी आश्रम चौराहा तथा आम्बुआ जोबट तिराहे पर कभी भी देखी जा सकती है आम्बुआ जोबट तिराहे पर कई ऑटो गैरेज तथा अन्य दुकानें होने से चालक यहां पर सड़क के दोनों किनारो के साथ वाहन खड़े कर देते हैं इनमें अधिकांश वे वाहन होते हैं जो कि अधिक क्षमता के भार ढोने वाले है चुकी यह क्षेत्र घुमावदार है इस कारण वाहन खड़े करने के कारण आमने-सामने से आने वाले वाहन दिखाई नहीं देने के कारण कभी भी यहां भीषण दुर्घटना होने से इन्कार नहीं किया जा सकता है पुलिस प्रशासन को इस और ध्यान देना जरूरी माना जा रहा है ताकि खड़े वाहनों के कारण कोई जान माल की हानि ना हो।